चौथी आँख

test

Breaking

Post Top Ad

Your Ad Spot

Sunday, 19 February 2017

तैयार हो जाइए, सरकार कल से ला रही पेमेंट का नया तरीका

कैशलैस ट्रांजेक्‍शन को बढ़ावा देने के लिए मोदी सरकार की तरफ से पेश किया गया IndiaQR मोड सोमवार यानि 20 फरवरी से शुरु हो जाएगा। IndiaQR एक कॉमन QR कोड है, जिसे सभी अहम कार्ड पेमेंट कंपनियों ने मिलकर तैयार किया है।
गौरतलब है कि भारतीय रिजर्व बैंक के निर्देशों के तहत मास्टरकार्ड, वीजा और अमेरिकन एक्सप्रेस के अलावा नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया रुपेकार्ड को चलाती है। IndiaQR किसी भी ग्राहक को अपने स्मार्टफोन के इस्तेमाल से रीटेल पेमेंट की इजाजत देता है, जिनके पास डेबिट कार्ड है।

यह देशभर में रिटेल मर्चेंट्स प्वाइंट्स पर डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने की सरकार की मुहिम का दूसरा अहम हिस्सा है। इससे पूर्व सरकार ने भीम ऐप के जर‌िए यूपीआई मोड को शुरू किया था। जिसे देश के सभी बैंक ग्राहक तेजी से अपना रहे हैं। 

ऐप से होगा पेमेंट

मामले से जुड़े एक व्यक्ति ने बताया कि यह पहला मौका है जब अहम पेमेंट कंपनियां एकल QR कोड तैयार करने के लिए साथ आयी हैं। इस कोड के जरिए सभी चार अहम कार्ड स्कीम के डेटा फील्ड की पहचान की जा सकेगी।

रिजर्व बैंक 20 फरवरी को IndiaQR लांच करने की तैयारी कर रहा है और पहले चरण में 5-8 बैंक लाइव होंगे। यह कोड बैंक के मोबाइल ऐप पर काम करेगा।

जानकारों का मानना है इससे जहां पॉइंट ऑफ सेल (पीओएस) टर्मिनल नहीं है वहां भी पेमेंट की समस्या से निजाद मिलेगी। बाजार जानकारों का मानना है कि पीओएस न सिर्फ महंगा है, बल्कि छोटे दुकानदार जहां सेल ज्यादा नहीं होती है उनके लिए खर्चीला सौदा है।

IndiaQR से ऐसे करें भुगतान

- IndiaQR बैंकों के मोबाइल ऐप पर करेगा काम।

- भुगतान करने के लिए ग्राहक को स्मार्टफोन पर मोबाइल बैंकिंग ऐप खोलना होगा।

- इसके बाद मर्चेंट का QR कोड स्कैन करना होगा।

- फिर राशि डालकर पेमेंट की प्रोसेसिंग करनी होगी।

-बस इसके बाद भुगतान होने का मैसेज स्क्रीन पर दिखाई देगा और आपका भुगतान हो जाएगा।

No comments:

Post a comment

Post Top Ad

Your Ad Spot

Pages