SAMSUNG की कहानी : मछली बेचकर बनाई थी कंपनी, वर्करों के सामने तोड़े 1,50,000 फोन - chouthi Aankh

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Sunday, 19 February 2017

SAMSUNG की कहानी : मछली बेचकर बनाई थी कंपनी, वर्करों के सामने तोड़े 1,50,000 फोन

दुनिया की सबसे बड़ी स्मार्टफोन कंपनी सैमसंग के उत्तराधिकारी जैसे हो अदालत में पेश होने वाले थे दुनियाभर की मीडिया पहले से ही उनका वहां इंतज़ार कर रही थी। जे वाई ली को पुलिस जैसे ही लायी देखकर हर कोई हैरान था। ली को हथकड़ी को रस्सियों से बांधकर पूछताछ के लिए पेश किया जा रहा था।  सैमसंग दक्षिण कोरिया के लिए एक ताज की तरह है और ली परिवार के हर व्यक्ति का रुतबा
कोरिया के लिए राजकुमार जैसा है। राष्ट्रपति को रिश्वत देने के आरोप में गिरफ्तार जे वाई ली के परिवार ने कैसे दुनिया की सबसे बड़ी मोबाइल कंपनी खड़ी कर डाली यह किसी रोचक कहानी से कम नही है।
एप्पल से बड़ी कंपनी सैमसंग
सैमसंग कंपनी ली बायुंग चल ली ने 1938 में 40 लोगों के साथ साउथ कोरिया में शुरू की थी। इसका सबसे अहम काम था ड्राय फिश एक्सपोर्ट करना। उस वक्त सैमसंग कंपनी महज 40 लोगो के साथ स्टाफ के साथ शुरू हुई थी लेकिन अब इसमें 3,75,000 लोग काम करते है। वही एप्पल के पास केवल 80,300 कर्मचारी हैं। सैमसंग कोरियन शब्द (सैमसंग) नाम से शुरू की थी। अंग्रेजी भाषा में इसका मतलब थ्री स्टार्स होता है।
सैमसंग 1938 से लेकर अब तक 80 अलग-अलग तरह के बिजनेस में अपना हाथ आजमा चुकी है।सैमसंग ने इलेक्ट्रॉनिक्स इंडस्ट्री की शुरूआत 1960 में की थी। और आपको बता दें कि सैमसंग के 90 प्रतिशत प्रोडक्ट्स खुद सैमसंग की ही फैक्ट्री में बनते हैं। धीरे-धीरे कंपनी ने कई इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम्स लॉन्च किए। टीवी, रेफ्रिजरेटर के साथ ही मोबाइल फोन और किचन में उपयोग होने वाले गैजेट्स भी लेकर आई।
बुर्ज खलीफा के सैमसंग ने बनाया
सैमसंग कंपनी को सफल बनाने के पीछे इसके फाउंडर बायुंग चुल ली (Byung-Chull Lee) का बहुत बड़ा हाथ है। बुर्ज खलीफा दुनिया की सबसे ऊंची बिल्डिंग है। दुबई में स्थित इस टावर का काम भी सैमसंग कन्सट्रक्शन डिविजन ने संभाला है। बुर्ज खलीफा का काम कई कन्सट्रक्शन कंपनियां संभालती हैं जिनमें से अहम सैमसंग है।
दुनिया का पहला 3 डी होम थियेटर 2010 में कंपनी द्वारा शुरू किया गया था।  सैमसंग गैलेक्सी S6 और S6 एज अब लॉन्च हो चुके हैं। ये दोनों फोन बार्सिलोना स्पेन में हुए एक इवेंट में लॉन्च किए गए हैं। 2010 में, सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स पहला बड़ा मंच आधारित स्मार्टफोन लांच किया है। सैमसंग द्वारा सबसे पहला मोबाइल डिवाइज 1986 में लॉन्च किया गया था। यह एक कार फोन था। यह गैजेट बुरी तरह से पिट गया था।
कर्मचारियों के सामने तोड़े 1,50,000 फोन 
1993 से सैमसंग कंपनी दुनिया की सबसे बड़ी चिप (मेमोरी चिप या रैम) मेकिंग कंपनियों में से एक है। खबरों की मानें तो एप्पल आईफोन 7 के लिए चिप भी सैमसंग कंपनी ने बनाई है। तरक्की की सीढ़ी चढ़ना सैमसंग ने 1995 से ही शुरू कर दिया था। इसी साल कंपनी के चेयरमैन ‘ली कुन ही’ (Lee Kun-hee) ने सैमसंग के कर्मचारियों के सामने 1,50,000 फोन और फैक्स मशीन इकट्ठा किए और अपने कर्मचारियों के सामने उन्हें नष्ट करवाया था। सैमसंग के 2000 कर्मचारियों ने यह नजारा देखा था।
सैमसंग कंपनी ने सबसे पहले CDMA (1996 में), डिजिटल टीवी (1998 में), वॉट फोन (1999 में) और MP3 फोन (1999 में) लॉन्च किया था। सैमसंग ने इलेक्ट्रॉनिक्स मार्केट के पॉपुलर ब्रांड सोनी को 2004-2005 में ओवरटेक किया और पूरी दुनिया में छा गई। आज के समय में दुनिया में बिकने वाला हर तीसरा फोन सैमसंग का होता हैं। दुनिया के 70 प्रतिशत स्मार्टफोन सैमसंग के द्वारा बनाई गई RAM का इस्तेमाल करते हैं। सैमसंग साउथ कोरिया में सबसे ज्यादा रेवेन्यू जनरेट करने वाली कंपनी है। हर मिनट दुनिया भर में 100 सैमसंग टीवी बेचे जाते हैं।
सैमसंग ग्रुप हर साल अपने नॉन प्रॉफिटेबल ऑर्गनाइजेशन सैमसंग मेडिकल सेंटर के लिए 100 मिलियन डॉलर डोनेट करता है। Apple iPad’s retina डिस्प्ले वास्तव में सैमसंग द्वारा बनाई गई है। आपको शायद मजाक लगे लेकिन सच ये है कि सैमसंग कभी सब्जी, नूडल्स और मछली भी बेचा करती थी।

No comments:

Post a comment

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages